नीम से बवासीर का इलाज – तुरंत फ़ायदा पहुँचेगा

नीम से बवासीर का इलाज – आपने यह तो सुना होगा कि नीम का पेड़ आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होता है और नीम का सेवन करने से अनेकों प्रकार की बीमारियां दूर होती हैं। नीम के पेड़ के 4 मुख्य भाग होते हैं जो हैं नीम की जड़, तना, नीम के पत्ते और निंबोली। नीम के यह चारों भाग अलग-अलग आयुर्वेदिक दवाइयों में उपयोग होते हैं।

अलग-अलग बीमारियों के इलाज के लिए या बीमारियों से बचने के लिए हम नीम का उपयोग अलग अलग तरीके से कर सकते हैं। बवासीर एक ऐसी बीमारी है, जिसके होने के पश्चात व्यक्ति काफी परेशान होता है और यहां तक कि उठने बैठने और शौच जाने में भी परेशानी होती है।

नीम से बवासीर का इलाज संभव है। बवासीर कई प्रकार की होती है, जैसे खूनी बवासीर, साधारण बवासीर, गुदाद्वार से बाहर निकली हुई बवासीर, गुदाद्वार के अंदर मौजूद बवासीर इत्यादि। नीम के अंदर कुछ ऐसे आयुर्वेदिक गुण मौजूद हैं जिन से बवासीर का इलाज किया जा सकता है।

नीचे कुछ ऐसे तरीके दिए गए हैं जिनकी मदद से आप नीम से बवासीर का इलाज कर सकते हैं। नीम से बवासीर का इलाज करने के लिए नीम के साथ अन्य आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों और पदार्थों का मिश्रण करना होता है। वैसे तो नीम से बवासीर का इलाज 10 से अधिक तरीकों से किया जा सकता है लेकिन नीचे मुख्य कुछ ऐसे नीम से बवासीर का इलाज के तरीके दिए गए हैं जिन्हें आप आसानी से तैयार कर सकते हैं।

नीम से बवासीर का इलाज

  1. 100 मिलीग्राम नीम का तेल ले और 6 ग्राम कच्ची फिटकरी वह 6 ग्राम सुहागा लेकर किसका मिश्रण बना लें। सोच क्रिया के पश्चात धोने के बाद इस मिश्रण को उंगली द्वारा गुदाद्वार के ऊपर वह अंदर उंगली दोबारा लगाएं। ऐसा करने से बवासीर ठीक होती है।
  2. 50 ग्राम नीम के बीच, 50 ग्राम बकायन के सूखे बीजों की गिरी, 50 ग्राम छोटी हरड़, 50 ग्राम शुद्ध रसौत और 5 ग्राम हींग को एक साथ मिलाकर उनका चूर्ण तैयार कर लें। इस चूर्ण में बीज निकले हुए उनके को पीसकर मिला लें और इसकी 1 ग्राम की गोलियां बनाकर तैयार कर लें। सुबह और शाम एक एक गोली का बकरी के दूध या फिर ताजा पानी के साथ सेवन करें। इस मिश्रण की गोली का नियमित सेवन करने से बवासीर ठीक होती है और यदि खूनी बवासीर है तो खून गिरना भी बंद होता है। नींद से बवासीर का इलाज के तरीकों में यह एक प्रमुख उपाय है।
  3. कुछ सुखी नीम की निंबोली ले और उन्हें महीन पीस लें। अब इस मिश्रण का 1 से 2 ग्राम सुबह-शाम सेवन करें। रात को रखे हुए पानी के साथ इस मिश्रण का सेवन करना अधिक लाभदायक होता है। यदि आप इस चूर्ण का सेवन कर रहे हैं तो इस दौरान गाय के घी का प्रयोग करें अन्यथा आपकी आंखों की रोशनी प्रभावित हो सकती है।
  4. एलुआ, रसौत व नीम के बीज की गिरी को बराबर मात्रा में मिलाकर खरल कर गोलियां तैयार कर लें। सुबह छाछ के साथ इन गोलियों का सेवन करने से बवासीर ठीक होती है।
  5. सौ ग्राम निंबोली के बीच और 200 ग्राम नीम की जड़ की छाल को एक साथ पीसकर लें। 4-4 ग्राम की गोलियां तैयार करके दिन में 4 बार इसका सेवन करें। इन गोलियों का सेवन करने के साथ-साथ नीम के काढ़े से मस्सों को धोने या फिर नीम के पत्तों को मस्सों पर लगाने से बवासीर में लाभ होता है।
  6. 50 मिलीलीटर तिल का तेल और 100 ग्राम सूखी निंबोली को पीसकर इसका मिश्रण तैयार कर लें। अब इस मिश्रण में 1 ग्राम फूला हुआ नीला थोथा, 6 ग्राम मोम मिलाकर मलहम बना लें। दिन में दो से तीन बार इस मिश्रण को बवासीर के मस्सों पर लगाएं। ऐसा करने से बवासीर के मस्से ठीक होते हैं।
  7. फिटकरी का फूला 2 ग्राम, नीम के बीज की गिरी 20 ग्राम और सोना गेरू 3 ग्राम को एक साथ पीसकर इसका मिश्रण तैयार कर लें। यह मिश्रण मलहम जैसा तैयार हो जाएगा यदि ऐसा न हो तो इसमें थोड़ा सा घी या मक्खन मिलाकर इसे घोंट लें। इस मल हमको बवासीर के मस्सों पर लगाने से दर्द दूर होता है और खून आना बंद हो जाता है। इसके साथ-साथ इस मिश्रण के उपयोग से मस्से मुरझा जाते हैं।
  8. 50 ग्राम निंबोली का तेल और 50 ग्राम कपूर को एक साथ मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें और इस मिश्रण को बवासीर के मस्सों पर लगाएं। इस मिश्रण को लगाने से बवासीर के मस्से ठीक होते हैं और बवासीर में लाभ होता है।

यहां पर दिए गए नीम से बवासीर के इलाज से आप फायदा उठा सकते हैं। यदि बवासीर के शुरुआती लक्षण आपको दिख रहे हैं तो इन तरीकों से आप बहुत ही जल्दी इसका इलाज कर सकते हैं। यदि आपको बवासीर काफी समय से है और यह काफी बड़ी हुई है तो इसे ठीक होने में कुछ समय लग सकता है।

नीम आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होता है और नीम से बवासीर का इलाज के साथ-साथ अन्य बीमारियों का इलाज भी किया जाता है। यदि आप नीम के गुणों और इससे होने वाले इलाज के बारे में जानना चाहते हैं तो आप हमारे वेबसाइट पर मौजूद नीम के फायदे से संबंधित लेख पढ़ सकते हैं।

नीम से बवासीर का इलाज” लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें